Ncert solution for class 10 hindi kshitij. chapter 2018-08-04

Ncert solution for class 10 hindi kshitij Rating: 6,6/10 1445 reviews

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij PDF Download

ncert solution for class 10 hindi kshitij

Students are suggested to go through the books carefully and also do the questions at the end of the chapters to ensure that they understand all the concepts given in the chapters. There are poems of nine poets. In earlier days we need to carry books while going on a vacation. The board has also announced the date of the exams. On the other hand, some students cry out when they prepare for their exam. मुनि जी तो सचमुच महायोद्धा हैं। वे फैंक से ही पहाड़ उड़ा देना चाहते हैं। परंतु यहाँ भी कोई छुईमुई के फूल नहीं हैं। परशुराम विश्वामित्र को कहते हैं कि वे लक्ष्मण को उसकी महिमा का वर्णन करें, वरना यह मारा जाएगा। तब लक्ष्मण व्यंग्य करते हैं-मुनि जी! Nowadays when you go inside a home, almost all the people inside the home will have a mobile phone individually.

Next

[PDF] Hindi Class 10 Kshitij CBSE NCERT Revision Notes, Solutions, Summary Download

ncert solution for class 10 hindi kshitij

मनुष्य ईश्वर को कहाँ-कहाँ ढूँढता फिरता है? Be careful to connect the points given in the outline naturally, so that the whole will read well as a connected piece of good communication. दूसरे कवित्त के आधार पर स्पष्ट करें कि ऋतुराज वसंत के बाल-रूप का वर्णन परंपरागत वसंत वर्णन से किस प्रकार भिन्न है। उत्तर 1. This impact of the smartphone technology over the public is the major reason for the increased users on the. अंतिम दो दोहों के माध्यम से से कबीर ने किस तरह की संकीर्णता की ओर संकेत किया है? We aim at a specific product, and with the suggestions of different products on the website. कबीर ने ईश्वर को सब स्वाँसों की स्वाँस में क्यों कहा है? Follow the outline given; i. अनुप्रास अलंकार कटि किंकिनि कै धुनि की मधुराई। साँवरे अंग लसै पट पीत, हिये हुलसै बनमाल सुहाई। 2.

Next

NCERT Solutions for Class 10 Hindi

ncert solution for class 10 hindi kshitij

काव्य सौंदर्य स्पष्ट कीजिए — हस्ती चढ़िये ज्ञान कौ, सहज दुलीचा डारि। स्वान रूप संसार है, भूँकन दे झख मारि। उत्तर:- भाव सौंदर्य — यहाँ पर कवि ने ज्ञान को महत्त्व को प्रतिपादित करते हुए बताया है कि ज्ञान की प्राप्ति करनेवाला साधक हाथी पर चले जा रहा है और संसार रूपी कुत्ते अर्थात् आलोचना करनेवाले भौंक-भौंककर शांत हो जाते हैं। शिल्प सौंदर्य — रचना में भक्ति रस की प्रधानता है। सधुक्कड़ी भाषा का प्रयोग किया गया है। हस्ती, स्वान, ज्ञान आदि तत्सम शब्दों का प्रयोग हुआ है। 8. दूसरे कवियों ने जहाँ वसन्त के मादक रुप को सराहा है और समस्त प्रकृति को कामदेव की मादकता से प्रभावित दिखाया है। इसके विपरीत देवदत्त जी ने इसे एक बालक के रुप में चित्रित कर परंपरागत रीति से भिन्न जाकर कुछ अलग किया है। 3. आपके यश को आपके सिवा और कौन कह सकता है। आप पहले भी अपने बारे में बहुत प्रकार से बहुत कुछ कह चुके हैं। कुछ और रह गया हो तो वह भी कह लीजिए। वैसे सच्चे शूरवीर युद्ध भूमि में अपना गुणगान नहीं करते, वीरता दिखाते हैं। प्रश्न 2. पहले सवैये में से उन पंक्तियों को छाँटकर लिखिए जिनमें अनुप्रास और रूपक अलंकार का प्रयोग हुआ है? To participate in a debate, one must prepare an out line of the main points in order in which one is going to argue. Chapter 14 — मन्नू भंडारी प्रश्न अभ्यास Question 1: लेखिका के व्यक्तित्व पर किन-किन व्यक्तियों का किस रूप में प्रभाव पड़ा? Kshitz is one of the main textbook for Hindi Cours A.

Next

chapter

ncert solution for class 10 hindi kshitij

लगता है तू मेरे उग्र स्वभाव को नहीं जानता। मैं तुझे बच्चा समझकर छोड़ रहा हूँ। तू क्या मुझे कोरा मुनि समझता है। मैं बाल ब्रह्मचारी हूँ। मैंने कई बार पृथ्वी के सारे राजाओं का संहार किया है। मैंने सहस्रबाहु की भी भुजाएँ काट डाली थीं। मेरा फरसा इतना कठोर है कि इसके डर से गर्भ के बच्चे भी गिर जाते हैं। लक्ष्मण-वाह मुनि जी! उत्तर:- कबीर ने ईश्वर प्राप्ति के लिए प्रचलित विश्वास जैसे मंदिर, मस्जिद में जाकर पूजा अर्चना करना या नमाज पढ़ना अथवा योग, वैराग्य जैसी क्रियाएँ, पवित्र तीर्थ स्थलों की यात्रा करना,आडम्बर युक्त भक्ति करके ईश्वर प्राप्ति की इच्छा करना इन सभी प्रचलित मान्यताओं का खंडन किया है। 10. उत्तर:- अंतिम दो दोहों में दो तरह की संकीर्णता की ओर संकेत किया है — 1. भाषा बेहद मंजी, कोमलता व माधुर्य गुण को लेकर ओत-प्रोत है। 4. When they are on the go for scoring more marks for the main subjects, their performance level and the marks got greatly reduced in English. With the plenty of interesting things around, it is very hard for the students to focus on their studies.

Next

chapter

ncert solution for class 10 hindi kshitij

Ncert books in hindi for class 10 has been organised in subject wise form for pdf download. देवदत्त ने प्रकृति चित्रण को विशेष महत्व दिया है। 5. The lapse in concentration during the studies is something very similar to online shopping. निम्नलिखित पंक्तियों का काव्य-सौंदर्य स्पष्ट कीजिए -पाँयनि नूपुर मंजु बजैं, कटि किंकिनि कै धुनि की मधुराई। साँवरे अंग लसै पट पीत, हिये हुलसै बनमाल सुहाई। उत्तर भाव सौंदर्य — इन पंक्तियों में कृष्ण के अंगों एवं आभूषणों की सुन्दरता का भावपूर्ण चित्रण हुआ है। कृष्ण के पैरों की पैजनी एवं कमर में बँधी करधनी की ध्वनि की मधुरता का सुन्दर वर्णन हुआ है। कृष्ण के श्यामल अंगों से लिपटे पीले वस्त्र को अत्यंत आकर्षक बताया गया है। कृष्ण का स्पर्श पाकर ह्रदय में विराजमान सुंदर बनमाला भी उल्लसित हो रही है। यह चित्रण अत्यंत भावपूर्ण है। शिल्प-सौंदर्य — देव ने शुद्ध साहित्यिक ब्रजभाषा का प्रयोग किया है। पंक्तियों में रीतिकालीन सौंदर्य-चित्रण का झलक है। साथ में अनुप्रास अलंकार की छटा है। श्रृंगार — रस की सुन्दर योजना हुई है। 4. Speakers are required to speak for or against a proposition, a question or a problem.

Next

ncert books in hindi for class 10 pdf download

ncert solution for class 10 hindi kshitij

English is a global language, so it is very important to learn that subject as it can help. But ,now the time has changed and we can simply carry ncert books in hindi pdf with us. ऊँचे कुल के गर्व में जीने की संकीर्णता। मनुष्य केवल ऊँचे कुल में जन्म लेने से बड़ा नहीं होता वह बड़ा बनता है तो अपने अच्छे कर्मों से। 6. यदि आप भी वीर योद्धा हैं तो हम भी कोई छुईमुई के फूल नहीं हैं जो तर्जनी देखते ही मुरझा जाएँगे। हम आपसे टक्कर लेंगे; और सच कहूँ! यह बालक तो बहुत मूर्ख, कुलनाशक, निरंकुश और कुलकलंक है। मैं तुम्हें कह रहा हूँ कि इसे रोक लो। इसे मेरे प्रताप और प्रभाव के बारे में बताओ। वरना यह मारा जाएगा। लक्ष्मण-मुनि जी! यदि परशुराम बढ़-चढ़कर बकझक करते रहें और लक्ष्मण का सिर उतारने को तैयार हो जाएँ तो फिर उन्हें कौन रोकेगा? लगता है तेरी मौत आई है। तभी तो तू सँभलकर बोल नहीं पा रहा। तू शिव-धनुष को आम धनुष के समान समझ रहा है। लक्ष्मण-हमने तो यही जाना था कि धनुष-धनुष एक-समान होते हैं। फिर राम ने तो इस पुराने धनुष को छुआ भर था कि यह दो टुकड़े हो गया। इसमें राम का क्या दोष? दूसरे कवियों द्वारा ऋतुराज वसंत को कामदेव मानने की परंपरा रही है परन्तु देवदत्त जी ने ऋतुराज वसंत को कामदेव का पुत्र मानकर एक बालक राजकुमार के रुप में चित्रित किया है। 2. You must use your imagination in filling in the details of action, gesture and conversation that should connect one poin… A debate is a contest between two speakers or two groups of the speaker to show skill and ability in arguing. तीसरे दोहे में कवि ने किस प्रकार के ज्ञान को महत्त्व दिया है? Ncert solution class 9 Hindi Course B includes text book solutions from part 1 and part 2. कवित्त एवं सवैया छंद का प्रयोग है। 3.

Next

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij PDF Download

ncert solution for class 10 hindi kshitij

You will find complete chapter detailed questions and answers of Class 10 Hindi. उन घटनाओं को याद करके लिखिए जब आपने अन्याय का प्रतिकार किया हो। उत्तर: मुझे याद है। मैं पूरे नगर की दौड़ प्रतियोगिता में प्रथम आया। खेल-विभाग के अधिकारी ने मुझे कहा-अगर तुम प्रांतीय प्रतियोगिता में भाग लेना चाहते हो तो मुझे एक हजार रुपये ला देना, वरना दूसरे का नाम आगे भेज दूंगा। मैंने उस अधिकारी की शिकायत अपने जिलाधीश को कर दी। परिणाम यह हुआ कि मुझे अवसर मिला और मैंने प्रांतीय प्रतियोगिता जीती। उस अधिकारी को खूब खरी-खोटी सुननी पड़ी। प्रश्न 13. The answer of each chapter is provided in the list so that you can easily browse throughout different chapters. उत्तर कवि देव ने चाँदनी रात की उज्ज्वलता का वर्णन करने के लिए स्फटिक शीला से निर्मित मंदिर का, दही के समुद्र का, दूध के झाग का , मोतियों की चमक का और दर्पण की स्वच्छ्ता आदि जैसे उपमानों का प्रयोग किया है। 9. The biggest problems in mathematics exam which a student normally face during the exam are timing, getting wrong answers in. Students are suggested to go through the books carefully and also do the questions at the end of the chapters to ensure that they understand all the concepts given in the chapters.

Next

NCERT Solutions for Class 10 Hindi

ncert solution for class 10 hindi kshitij

If you have any doubts, please comment below. अपने अपने धर्म को श्रेष्ठ सिद्ध करना और दूसरे के धर्म की निंदा करना। 2. इस संसार में सच्चा संत कौन कहलाता है? Not all the hard working students will get the top marks in the examination. पठित कविताओं के आधार पर कवि देव की काव्यगत विशेषताएँ बताइए। उत्तर रीतिकालीन कवियों में देव को अत्यंत प्रतिभाशाली कवि माना जाता है। देव की काव्यगत विशेषताएँ निम्नलिखित हैं — 1. An uneducated person generally tells a tale badly.

Next

NCERT Class 9 Hindi Kshitij Chapter 10 Vakh NCERT book

ncert solution for class 10 hindi kshitij

According to the news, the exam for the matriculation and intermediate schools will be held next year. आपसे बढ़कर आपकी महिमा और कौन बता सकता है। अपने गुण बताते-बताते आपका पेट अभी न भरा हो तो और कह लो। फिर सच्चे वीर युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाते हैं, बातें नहीं बताते। परशुराम क्रोध में आकर विश्वामित्र को कहते हैं कि मैं अभी इसे मारकर गुरु-ऋण से उऋण होता हैं। इस पर लक्ष्मण चोट करते हुए कहते हैं-हाँ हाँ, माता-पिता का ऋण तो आप उतार चुके। अब गुरु-ऋण भारी पड़ रहा है। लंबे समय से न चुका पाने के कारण ब्याज भी बढ़ गया होगा। लाओ, कोई हिसाब-किताब करने वाला बुलाओ। मैं अभी अपनी थैली खोलकर ऋण चुकाता हूँ। इस प्रकार यह अंश व्यंग्य से भरपूर है। तुलसी ने सच ही कहा है लखन उतर आहुति सरिस भृगुबरकोपु कृसानु।। परशुराम यदि आग हैं तो लक्ष्मण के वचन घी की तरह काम करते हैं। प्रश्न 8. उत्तर:- कबीर के अनुसार सच्चा संत वही कहलाता है जो साम्प्रदायिक भेदभाव, सांसारिक मोह माया से दूर, सभी स्तिथियों में समभाव सुख दुःख, लाभ-हानि, ऊँच-नीच, अच्छा-बुरा तथा निश्छल भाव से प्रभु भक्ति में लीन रहता है। 5. Poems were kept according to the historical chronology. To write a good story, you must have the whole plot clear in your, and the main points arranged in their proper order. Now, the mindset of every student is to score the good works in the examination.

Next