मोटू पतलू वीडियो में. मोटू 2018-10-09

मोटू पतलू वीडियो में Rating: 9,4/10 983 reviews

हिंदी न्यूज़

मोटू पतलू वीडियो में

अगलगी की सूचना मिलने पर अग्निशमन विभाग के पदाधिकारी व कर्मी दो दमकलों के साथ बीस मिनटों के अंदर घटना स्थल पर पहुंचे. पुलिस ने गांधी चौक से स्टेशन जाने वाले मार्ग को अवरुद्ध कर दिया, ताकि आग बुझाने के दौरान दमकल कर्मियों को परेशानी न हो. उसके बाद फिर आग पर काबू पाने की पुरजोर कोशिश शुरू की गयी. . विकासखंड से 14 किमी की दूरी पर ग्राम पंचायत बुर्रीकला अन्तर्गत धार्मिक पर्यटन स्थल रैनी धाम में मार्च माह की होली के दौरान लगने वाले मेले को लेकर ग्रामीणजनों और जनप्रतिनिधियों ने रूपरेखा बनाना शुरू कर दिया है। इस कड़ी में मंगलवार को ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों के दल की एक बैठक का आयोजन जनपद सदस्य धारासिंग यदुवंशी द्वारा किया गया जिसमें आसपास की समस्त ग्राम पंचायतों के 5 सरपंच के अलावा ग्रामीणजन उपस्थित हुए। बैठक के दौरान रैनीधाम मेले के पूर्व प्रवेश द्वार बनाने की कार्य योजना तैयारी की है जिसके लिए समस्त पंचायतों के सरपंचों को सहयोग करने की बात कहीं गई। समस्त सरपंचों ने सहयोग प्रदान करने को कहा है। इसके अतरिक्त मुख्य मार्ग पर पत्थरों पर शेर, बंदर की प्रतिमाएं बनाने पर भी विचार विमर्श हुआ। इस दौरान रैली रामस्वरूप यादव, दुर्गा प्रसाद विश्वकर्मा, लखन सिरसाम, संतकुमार इवनाती, किशोरी इवनाती, रमेश वानवंशी, शिवमोहन कवरेती, राजू सहित रैनी समिति के सदस्य उपस्थित थे।. हैरानी की बात ये है कि इस साल सबसे ज्यादा सर्च किए गए Keywords में बच्चों का पंसदीदा बाल-वीर और कार्टून मोटू-पतलू भी शामिल हैं.

Next

Ipl news in Hindi, Ipl की ताज़ा ख़बर, ब्रेकिंग न्यूज़

मोटू पतलू वीडियो में

मैं अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पा रहा हूं. उससे भी जब सफलता नहीं मिलती दिखी तो सोनपुर से चार, महुआ से एक दमकल और मंगाया गया. स्थानीय लोगों व दमकल कर्मियों ने परस्पर सहयोग से भीषण आग पर भारी मशक्कत के बाद करीब सात घंटे में काबू पाया. पुलिस ने इस मामले में एक प्रेस रीलीज़ जारी कर कहा है कि ये आरोपी पहले गायों को मारते थे और उसके बाद उसका मांस आपस में बांट लेते थे. इमेज कॉपीरइट nicklodean 90 के दशक के कॉमिक लोटपोट के मुख्य किरदार 'मोटू पतलू' पर आधारित कार्टून इस हफ़्ते नंबर एक पर रहा.

Next

रक्षाबंधन: राखी के बाजार में छोटा भीम और मोटू

मोटू पतलू वीडियो में

घटनास्थल पर विद्युतकर्मियों ने पहुंच कर क्रेन के सहारे विद्युत की आपूर्ति बंद की. उसके बाद अग्निशमन पदाधिकारी ने रामाशीष चौक और सोनपुर मेले से और दो दमकल मंगाये. वहीं, 1984 के सिख विरोधी दंगों में उम्रकैद की सजा मिलने के बाद कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने मंगलवार को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. मोटू-पतलू और छोटा भीम न केवल भारत में बल्कि पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी खासे लोकप्रिय हो रहे हैं। ये बच्चों के फेवरिट टीवी शोज हैं। मोटू-पतलू और छोटा भीम को भले ही पाकिस्तानी बच्चे पसंद कर रहे हैं, लेकिन वहां की मीडिया में इस बात पर बहस छिड़ी है कि इन टीवी शोज का प्रसारण किया जाना चाहिए या नहीं। पाकिस्तानी मीडिया को आपत्ति इस बात पर है कि इन शोज का प्रसारण खालिस हिन्दी में किया जा रहा है और बच्चे हिन्दी जुबान जल्दी सीख रहे हैं। पाकिस्तान के टीवी चैनल पर हो रही बहस का यह विडियो सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। आप यहां देख सकते हैं कि मोटू पतलू और छोटा भीम की वजह से पाकिस्तानी पत्रकार किस कदर बेचैन हो रहा है। इस बारे में आपका क्या कहना है, हमें जरूर अवगत कराएं।. हलांकि अगलगी इतनी भीषण थी कि दो दमकलों से उस पर काबू पाना मुश्किल हो रहा था. निकोलस पूरन Nicolas Pooran 4. मेरा सपना सच हो गया.

Next

उद्यान में मोटू

मोटू पतलू वीडियो में

भारी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने सोमवार की सुबह करीब सात बजे आग पर काबू पाया. दूसरे नंबर पर भारतीय लोगों ने सबसे ज्यादा लाइव स्कोर Live Score सर्च किया है. किंग्स इलेवन पंजाब ने उनको खरीदा. हालांकि, इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या और हिंसा फैलाने के मुख्य आरोपी अब तक पुलिस की गिरफ़्त से बाहर हैं. उत्तर प्रदेश के छोटे बच्चों में मोटू पतलू कार्टून देखने के शौक तेजी के बढ़ रहा है। यूपी में सबसे ज्यादा 2 से 10 साल तक के बच्चे मोटू पतलू कार्टून वीडियो ज्यादा देखना पसन्द करते हैं क्योंकि मोटू पतलू की जोड़ी यूपी के छोटे बच्चों को सबसे अच्छी लगती है। मोटू पतलू की वीडियो छोटे बच्चे सबसे ज्यादा यूट्यूब पर ऑनलाइन देखते हैं। बच्चों को अच्छा लगता है मोटू पतलू नाटक मोटू पतलू कार्टून शो में यूपी के छोटे बच्चों को मोटू पतलू नाटक करते हुए बहुुत अच्छे लगते हैं। कुछ लोग अपने बच्चों का मन बहलाने के लिए मोबाइल में मोटू पतलू कार्टून डाउनलोड कर देते हैं, जिससे उनके मोबाइल का इंटरनेट यूज न हो। यूपी के बच्चों को मोटू पतलू कार्टून के साथ-साथ शिवा कार्टून भी पसन्द आ रहा है। यूपी के बच्चों ने तो शिवा कार्टून वीडियो भी देखना शुरू कर दिया है। सबसे ज्यादा यूपी में देखा जाता है मोटू पतलू कार्टून मोटू पतलू कार्टून शो गूगल पर पूरे भारत में सबसे ज्यादा सर्च होने वाला सीरियल है। जिसे गूगल पर भारत में सबसे ज्यादा सर्च होने पर नौवां स्थान दिया गया है। क्योंकि मोटू पतलू कार्टून शो देखने के लिए सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश सहित पूरे भारत में सर्च किया गया है। मोटू पतलू कार्टून सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में ही देखा जाता है। क्योंकि यूपी की जनसंख्या अन्य राज्यों की अपेक्षा ज्यादा है।. लेकिन 350 खिलाड़ी आखिरी में फाइनल हुए. सभी तथ्य 'बार्क' द्वारा उपलब्ध आंकड़ों पर आधारित.

Next

‘मोटू पतलू’ शो का स्पेशल एपिसोड ‘मोटू पतलू हीरो हंट’ का आज होगा प्रसारण

मोटू पतलू वीडियो में

साथ-साथ नगर थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंची. मोटू पतलू बच्चो के फेवरेट कार्टून कैरेक्टर है। मोटू और पतलू की जोडी बच्चो को काफी पंसद है। इस जोडी ने बच्चो के मन में जो जगह बनाई है। वह किसी को बताने की जरुरत नही है। जिनके घर में बच्चे है वह इस बात को अच्छी तरह से समझ सकते है। मोटू पतलू की जोडी को बच्चे एक चैनल निकोलोडन चैनल पर देखते है। इस चैनल पर मोटू पतलू की सीरीज का आरम्भ 2012 में किया गया था। इतने साल बितने पर भी मोटू पतलू का क्रेज बच्चो मेें कम नही हुआ है। आज भी बच्चे बडे चाव से इनके कारमामें देखते है। मोटू पतलू motu patlu history की इए सीरीज में उनके साथ डाॅझटका घसीटा राम इंस्पेक्टर चिगंम और जाॅन द डाॅन भी नजर आते है। जो बच्चो को काफी. इन धारावाहिकों की टीआरपी पर अगर नज़र डालें, तो यह हफ़्ता ज़ी टीवी के नाम ही रहा. मोटू पतलू बच्चो के फेवरेट कार्टून कैरेक्टर है। मोटू और पतलू की जोडी बच्चो को काफी पंसद है। इस जोडी ने बच्चो के मन में जो जगह बनाई है। वह किसी को बताने की जरुरत नही है। जिनके घर में बच्चे है वह इस बात को अच्छी तरह से समझ सकते है। मोटू पतलू की जोडी को बच्चे एक चैनल निकोलोडन चैनल पर देखते है। इस चैनल पर मोटू पतलू की सीरीज का आरम्भ 2012 में किया गया था। इतने साल बितने पर भी मोटू पतलू का क्रेज बच्चो मेें कम नही हुआ है। आज भी बच्चे बडे चाव से इनके कारमामें देखते है। मोटू पतलू motu patlu history की इए सीरीज में उनके साथ डाॅ. अगलगी की सूचना आग की तरह नगर में फैली और देखते-देखते काफी संख्या में बगल के दुकानदार और स्थानीय लोग भी जुट गये.


Next

Vidisha News

मोटू पतलू वीडियो में

झटका और घसीटाराम जैसे किरदार हममें से कितनों के ही बचपन का हिस्सा रहे हैं। इस फिल्म में ये सर्कस से भागे एक शाकाहारी शेर को जंगल पहुंचाते-पहुंचाते ऐसे लोगों से भिड़ जाते हैं जो जंगल को तबाह करना चाहते हैं। अपने यहां बच्चों को ध्यान में रखकर बनाई जाने वाली इस तरह की एनिमेशन फिल्मों में आमतौर पर मनोरंजन और मैसेज के बीच घालमेल हो जाता है। लेकिन इस फिल्म में इन दोनों तत्वों के बीच काफी अच्छा संतुलन बनाते हुए मनोरंजन को प्रमुखता दी गई है। हंसाते-गुदगुदाते हुए यह फिल्म आपको काफी सारी अच्छी बातें सिखा जाती है। निर्देशक सुहास कदव ने अच्छी कल्पनाशीलता दिखाई है। केतन मेहता की कंपनी माया डिजिटल स्टूडियो ने उम्दा क्वालिटी का एनिमेशन तैयार किया है। बच्चों के साथ-साथ बड़ों को भी पसंद आने का दम है इस फिल्म में। अपनी रेटिंग-साढ़े तीन स्टार वरिष्ठ फिल्म समीक्षक व पत्रकार दीपक दुआ 1993 से फिल्म-पत्रकारिता में सक्रिय हैं। मिजाज से घुमक्कड़। सिनेमा विषयक लेख, साक्षात्कार, समीक्षाएं व रिपोर्ताज लिखने वाले दीपक कई समाचार पत्रों, पत्रिकाओं के लिए नियमित लिखते हैं और रेडियो व टीवी से भी जुड़े हुए हैं।. मॉल के प्रोपराइटर श्याम बाबू ने नगर थाने को आवेदन दे कर अगलगी की प्राथमिकी दर्ज करायी हैं. आप हमें और पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं. मेले के एक दिन पूर्व ही मोटू-पतलू को निहारने पहुंचे बच्चे। सात दिवसीय अटल मेले का शुभारंभ आज भास्कर संवाददाता नागदा पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर नपा के तत्वावधान में सात दिवसीय अटल मेले का शुभारंभ रविवार दोपहर 3. अब यह तो साफ़ नहीं है कि इस धारावाहिक को बच्चे देख रहे हैं या 90 के दशक में लोटपोट के फ़ैन रहे युवा, लेकिन यह साफ़ है कि यह कार्यक्रम हिट हो रहा है.

Next

Vidisha News

मोटू पतलू वीडियो में

निकोलडियोन चैनल पर आने वाले इस धारावाहिक ने 'निंजा हथौड़ी' दूसरा स्थान , 'डोरेमॉन' तीसरा स्थान , ऑगी एंड दि कॉक्रोचेस चौथा स्थान और छोटा भीम को पीछे छोड़ दिया. वरुण चक्रवर्थी Varun Chakravarthy की बेस प्राइज 20 लाख रुपये थी. हाजीपुर : नगर थाना क्षेत्र के डाकबंगला रोड स्थित मोटू-पतलू मॉल में रविवार की देर रात करीब एक बजे शॉट सर्किट से भीषण अगलगी की घटना में करीब तीन करोड़ की संपत्ति जल कर राख हो गयी. तेजबहादूरसिंह चौहान, सांसद प्रतिनिधि धर्मेश जायसवाल, रामसिंह शेखावत, नपा उपाध्यक्ष सज्जनसिंह शेखावत, मंडल अध्यक्ष राजेश धाकड़, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष महेश व्यास रहेंगे। मेले के दौरान बच्चों के लिए मोटू पतलू, डोरेमॉन सहित आकर्षक स्टेच्यू के साथ सर्वधर्म की प्रेरणा देने वाला स्मारक भी लगाया गया है। मेहतवास में पेयजल टंकी कार्य का लोकार्पण भी मेला शुभारंभ के पहले अतिथियों द्वारा दोपहर 12. उन्होंने बताया कि मॉल के अंदर आकर्षक लुक देने को लेकर किये गये निर्माण कार्य में करीब 85 लाख रुपये खर्च करने पड़े थे. इस ऑक्शन में 1003 खिलाड़ियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था. गूगल ने 2018 में सबसे ज्यादा सर्च किए गए टॉपिक्स की लिस्ट जारी कर दी है.

Next

मोटू और पतलू, motu patlu story in hindi

मोटू पतलू वीडियो में

मामले की जांच की जा रही है. भीषण अगलगी पर काबू पाने में हो रही कठिनाइयों को देखते हुए पदाधिकारी ने सिने कृष्णा मॉल के प्रोपराइटर को फोन कर वहां से लगातार दमकल की गाड़ियों से पानी लाते रहे और आग पर काबू का प्रयास करते रहे. इमेज कॉपीरइट rashmi sharma telefilms जहां पहले स्थान पर रहा ज़ी टीवी का 'कुमकुम भाग्य', वहीं स्टार पल्स के 'साथिया' ने दूसरे स्थान पर क़ब्ज़ा किया. उसके अलावा डेढ़ करोड़ के कपड़े व अन्य सामान भी अगलगी की भेंट चढ़ गयी. धारावाहिकों की फ़ेहरिस्त में टॉप-3 में कुछ समय के लिए नज़र आए दो नए धारावाहिक थे- ज़ी टीवी का 'जमाई राजा' और 'टश्न ए इश्का'. लेकिन इसी बीच मौके पर पहुंचे सभी दमकलों में स्टोर किया गया पानी समाप्त हो गया.

Next

गुलजार ने किया 'मोटू पतलू किंग्स ऑफ किंग्स' का म्यूजिक वीडियो लॉन्च

मोटू पतलू वीडियो में

पिछले दिनों अपनी जमीं पर भारत के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में अपने प्रदर्शन से सैम कुरेन दुनिया भर में चर्चा का विषय बन गए थे. झटका, घसीटा राम, इंस्पेक्टर चिगंम और जाॅन द डाॅन भी नजर आते है। जो बच्चो को काफी लुभाते है। लेकिन क्या आप जानते है इस चैनल पर एनिमेटेड सीरीज से पहले भी मोटू पतलू को बच्चे जानते थे। जी हां मोटू पतलू का इतिहास motu patlu history बस इतना ही नही है। निकोलोडन चैनल पर इनकी सीरीज शूरु होने के काफी पहले से ही मोटू पतलू बच्चो के फेवरेट रहे है। मोटू पतलू सबसे पहले एक मैगजीन में नजर आये थे। लोटपोट नाम की इस मैगजीन में सबसे पहले 1969 में मोटू पतलू की जोडी को प्रकाशित किया था। अपने पहले प्रकाशन के कुछ समय बाद ही यह पात्र बच्चो के फेवरेट बन गये। उस समय भी इनका इतना क्रेज था कि इस मैगजीन के हिंदी पाठको की संख्या 175000 से ज्यादा थी। वही इसके अंग्रेजी प्रति के पाठको की संख्या दो लाख से उपर थी। मोटू पतलू सभी को पंसद है। विशेष रुप से बच्चो पर तो इनका गहरा प्रभाव है। आपको बता दे कि मोटू पतलू सीरीज में मोटू पतलू नाम के दो दोस्तो को दिखाया जाता है। जो फूरफूरी नगर में रहते है। ये दोनो अपनी हरकतो की वजह से अकसर मुसीबत में पड जाते है। लेकिन वे अपनी हरकतो से फुरफुरी नगर को मुसीबत से भी बचाते है। मोटू पतलू सीरीज में इंस्पेक्टर चिंगम भी एक मजेदार पात्र है। जो तमिल लहजे में हिंदी बोलता है। इस सीरीज में जाॅन एक चोर है जो मोटू पतलू से अकसर मार खाता रहता है। एक तरफ आजकल जहां बच्चे विदेशी कार्टून पात्रो को पंसद कर रहे है। ऐसे में मोटू पतलू motu patlu history का दिलो में जगह बनाना अपने आप में एक मिशाल है। 2017-06-21 कोमल शर्मा अपने नाम की ही तरह स्वभाव से भी सरल हैं। उनकी टीम में उन्हें सॉफ्ट के नाम से जाना जाता है। कोमल ने पत्रकारिता का मास्टर कोर्स किया है। उन्होंने कई प्रतिष्ठित कंपनियों में अपनी सेवाएं दी हैं। अब इंडिया की न्यूज में आकर उन्हें संतोष महसूस होता है। कोमल को एक्शन—कॉमेडी और रोमांटिक मूवीज पसंद हैं। हैडफोन लगाकर गाना सुनना उनकी एक बड़ी कमजोरी है।. मॉल के प्रोपराइटर श्याम बाबू के अनुसार अगलगी की घटना के दौरान कैश काउंटर, तीन एलईडी टीवी, तीन कीमती कंप्यूटर और पांच एसी सहित अन्य सामान जलकर राख हो गये. बाल वीर पांचवे नंबर पर सबसे ज्यादा सर्च किया गया, जबकि मोटू-पतलू Motu Patlu 9वें नंबर पर सबसे ज्यादा सर्च किया गया है. शुरुआती सीजन में टीम टूर्नामेंट के सेमीफाइनल तक पहुंची थी और उसके बाद से इसके प्रदर्शन में लगातार गिरावट देखने में आई है.

Next